वन पारिस्थितिकी एवं भूमि प्रबंधन विभाग

परिचय

वन पारिस्थिकी एवं भूमि प्रबंधन प्रभाग ने विगत वर्षों में पूर्वी क्षेत्र में पारिस्थितिकी बहाली और खनन क्षेत्रों और अन्य स्ट्रेस क्षेत्र के पुनर्वास बहुत से कार्य किये हैं. प्रभाग ने विशेष कर खदानों से निकला हुआ अधिभारित कूड़ों का ढेर, बंजर भूमि और लवण प्रभावित व जलभरावयुक्त भू-स्थलो के पुर्नस्थापन क्षेत्र में शोध परियोजना और प्रशिक्षण के माध्यम से कार्य किया है ।

प्रभाग का अनुसंधान अधिदेश:

  • जैव विविधता का आकलन एवं संरक्षण
  • पारिस्थितिकी बहाली और खनन क्षेत्रों और अन्य स्ट्रेस क्षेत्र के पुनर्वास
  • पारिस्थितिकी तंत्र की उत्पादकता के लिए मृदा-वनस्पति आपसी संबंध
  • मिट्टी के स्वास्थ्य में सुधार के लिए कचरे के पुनर्चक्रण
  • वानिकी में पोषक तत्व उपयोग के अनुकूलन प्रभाव
  • प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन के लिए पारंपरिक ज्ञान का दस्तावेजीकरण

वर्तमान में परिचालित शोध परियोजना:

  • Estimation of Soil Carbon stock under different land use in Dalma Sanctuary and Betla National Park in Jharkhand. – PI- Dr. M. Ray, Scientist-D; 2 yrs (April, 2017-2019)

विभागीय टीम

डॉ (श्रीमती) मलाबिका रे, वैज्ञानिक-डी, हेड
डॉ पी के दास, वैज्ञानिक डी
श्री सतीश कुमार, आर ए-द्वितीय (जनरल)
श्री सूरज कुमार, टी.ए. , सी ‚(जनरल)
श्री के एल डी, टी.ए. , सी ‚(जनरल)

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें:

डॉ मलाबिका रे,
प्रभाग प्रमुख,
वन पारिस्थिकी एवं भूमि प्रबंधन प्रभाग
वन उत्पादकता संसथान,
NH २३, लालगुत्वा, रांची, झारखंड ८३५३०३.
फोन: 0651-2526143